Best Online News From Nepal

स्वामी विवेकानंद के शिकागो भाषणोँ की 125वीँ वर्षगाँठ पर कार्यक्रम

स्वामी विवेकानंद के शिकागो भाषणोँ की 125वीँ वर्षगाँठ पर कार्यक्रम 2018-19

प्रिय स्वजन !

      सप्रेम अभिवादन ।

आप सब इस बात से अवगत हैं कि वर्ष 1893 में 11 सितम्बर से 27 सितम्बर तक शिकागो में आयोजित विश्व धर्म महासभा में स्वामी विवेकानंद के भाषणोँ ने सारे विश्व को आंदोलित कर दिया था । अत: रामकृष्ण मठ एवम रामकृष्ण मिशन के मुख्यालय बेलूड मठ, हावडा ने इस आयोजन की 125वीँ वर्षगाँठ को समारोहपूर्वक मनाने का निर्णय लिया है । देश और विदेश में होने वाले अनेक कार्यक्रमोँ की श्रृन्खला में भाव प्रचार परिषदोँ की भूमिका को भी रेखांकित किया गया है। इस सम्बंध में रामकृष्ण मठ,लखनऊ के अध्यक्ष श्रीमत स्वामी मुक्तिनाथानंद जी महाराज की अध्यक्षता में दिनांक 05/8/2018 को लखनऊ में एक सभा का आयोजन किया गया था, जिसमेँ मुख्यत: निम्नलिखित निर्देश प्राप्त हुए थे :

1-      उत्तरप्रदेश-उत्तराखंड रामकृष्ण-विवेकानंद भाव प्रचार परिषद के हर सदस्य / पर्यवेक्षक आश्रम द्वारा 11 सितम्बर 2018 को एक सभा का आयोजन किया जाना है, जिसमें स्वामी जी की शिकागो वक्तृता का पाठ करने के साथ इसी पर आधारित विषय पर नगर के प्रबुद्ध व्यक्तियोँ द्वारा उद्बोधन कराया जाय।

2-      जिन तीन भाषणोँ का पाठ सभा में कराया जाना है, वे हैं स्वामी जी के 11, 19 और 27 सितम्बर 1893 को दिये गये भाषण । इनका पाठ तीन अलग-अलग युवाओँ द्वारा कराया जाय।

3-      परिषद से सम्बंधित प्रत्येक परिवार 11.9.2018 को सायँ 3.30 बजे अपने घरोँ मेँ व्यक्तिगत रूप से और समिति के कार्यालय मेँ सामूहिक रूप से शंखनाद करें।

4-      11/9/2018 को सम्पन्न कार्यक्रम के पश्चात 11/9/2019 के मध्य में युवाओँ के लिये भाषण/निबंध/क्विज/पठन प्रतियोगितायेँ आयोजित की जायँ, जिसके लिये विद्यार्थी को ‘शिकागो भाषण’ पुस्तिका उपलब्ध करा दी जाय और उसी के साथ प्रतियोगिता का प्रश्नपत्र भी दे दिया जाय । प्रश्न/निबंध उक्त पुस्तिका पर ही आधारित होंगे। प्रतियोगिता में भाग लेने वाले युवाओँ से पंजीयन शुल्क के रूप में 5 रुपये मात्र लिये जायँ ।

5-      उपर्युक्त को ध्यान में रखते हुए ‘शिकागो भाषण’ शीर्षक पुस्तक बच्चोँ को नि:शुल्क दी जाय।

6-      यद्यपि ‘शिकागो भाषण’ नामक पुस्तक का वर्तमान क्रय-मूल्य 12 रुपये है, किंतु रामकृष्ण मठ, लखनऊ के पुस्तक विक्रय केंद्र पर इसका सहायतित संस्करण मात्र 5 रुपये में उपलब्ध कराया जायेगा।

7-      चूँकि पुस्तक की प्रतियाँ सीमित हैँ, अत: दोनोँ प्रदेशोँ (उत्तरप्रदेश/उत्तराखण्ड) के सेवाश्रमोँ/समितियोँ से अनुरोध है कि वे तत्काल अपना माँग-पत्र भेज देँ, ताकि ‘प्रथम आगत, प्रथम निर्गत’ सिद्धांत के अनुसार यथासमय पुस्तकोँ की आपूर्ति उन्हेँ की जा सके।

8-      समितियोँ/सेवाश्रमोँ से यह भी अनुरोध है कि वे जितना सम्भव हो उतने विद्यालयोँ/महाविद्यालयोँ से सम्पर्क करेँ और सपुस्तक प्रतियोगिता हेतु पंजीकृत प्रतिभागियोँ को नि:शुल्क पुस्तक वितरण करेँ।

9-      आगामी ‘राष्ट्रीय युवा दिवस’ 12 जनवरी 2019 को प्रत्येक संस्था के प्रथम तीन विजेताओँ को केंद्रीय कार्यालय/सभास्थल पर बुलाकर मूल्यवान पुस्तकोँ, सार्वभौमिक साहित्य और स्मृति-चिह्नोँ द्वारा सम्मानित किया जाय । ऐसे छात्र , जो सभी संस्थाओँ की सम्मिलित पात्रता-सूची में सर्वोच्च प्रथम तीन स्थानोँ पर होँ, उन्हेँ नकद पुरस्कार, मूल्यवान उपहार और पुस्तकेँ भेँट की जायँ । धनाभाव के कारण यदि समिति पुरस्कारोँ की व्यवस्था करने में असमर्थ हो तो इसकी व्यवस्था नकद अथवा वस्तुओँ के रूप में रामकृष्ण मठ,लखनऊ द्वारा की जा सकती है।

 10-  कोई कठिनाई होने पर कृपया अवगत करायेँ।

   सादर,

   भवदीय,

   हीरा सिंह

   संयोजक

   (मो.) 94151 97737

सेवा में,

हमारे सभी केंद्रों के प्रमुख

उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड रामकृष्ण विवेकानन्द भाव प्रचार         परिषद ।

सचिव/अध्यक्ष

उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड रामकृष्ण विवेकानन्द भाव प्रचार परिषद के अन्तर्गत सभी केन्द्र।

प्रतिलिपि

स्वामी गिरिशानन्द

संयोजक

रामकृष्ण विवेकानन्द भाव प्रचार समिति

      बेलूड मठ